Wednesday , April 8 2020

उत्तरप्रदेश के 15 जिले लॉक डाउन किये गए, जानें क्या होता है लॉक डाउन?

यूपी सरकार ने कोरोना वायरस के खतरे से जनता को आगाह करते हुए लखनऊ सहित प्रदेश के 15 जिलों को पहले चरण में 23 से 25 मार्च तक लॉकडाउन घोषित कर दिया है। इन सभी जिलों को सैनिटाइज किया जाएगा।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अभी खतरा टला नहीं है इसलिए पूरी तरह एहतियात बरतने की जरूरत है क्योंकि थोड़ी सी लापरवाही बड़ा नुकसान कर सकती है। प्रदेश सरकार हर स्थिति का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार है। इसके अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी मंत्रियों को लखनऊ में ही रहने का निर्देश दिया है। उन्होंने रात नौ बजे के बाद भी लोगों से घरों के बाहर न निकलने की अपील की है। उन्होंने कहा कि उपचार से महत्वपूर्ण बचाव है। प्रदेश के लखनऊ, आगरा, गाजियाबाद, कानपुर, मेरठ, गोरखपुर, नोएडा, मुरादाबाद, प्रयागराज, आजमगढ़, अलीगढ़, बरेली, सहारनपुर, वाराणसी और लखीमपुर को लॉक डाउन घोषित किया है। इस दौरान राज्य परिवहन की बसों का संचालन पूरी तरह बंद कर दिया गया है। इस संबंध में परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक डॉ राजशेखर ने बताया कि अब निगम की यूपी से राजस्थान, उत्तराखंड, हरियाणा राज्य को चलने वाली साधारण सेवा एवं एसी बसों का संचालन रोक दिया गया है। कोरोना वायरस के बचाव के क्रम में ये कदम उठाया गया है। वहीं, लखनऊ मेट्रो की सेवाएं भी 31 मार्च तक के लिए निलंबित कर दी गई हैं। बता दें कि रविवार को देश भर में कोरोना के 26 नए मामले सामने आए हैं। संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 341 हो गई है। मुंबई में कोरोना पीड़ित व्यक्ति की मौत हो गई है वह मधुमेह का रोगी था। वहीं, बिहार में भी एक कोरोना मरीज की किडनी फैल होने से मौत हो गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर देश में जनता कर्फ्यू जारी है।
क्या होता है लॉकडाउन?
लॉकडाउन एक इमर्जेंसी व्यवस्था होती है। अगर किसी क्षेत्र में लॉकडाउन हो जाता है तो उस क्षेत्र के लोगों को घरों से निकलने की अनुमति नहीं होती है। जीवन के लिए आवश्यक चीजों के लिए ही बाहर निकलने की अनुमति होती है। अगर किसी को दवा या अनाज की जरूरत है तो बाहर जा सकता है या फिर अस्पताल और बैंक के काम के लिए अनुमति मिल सकती है। छोटे बच्चों और बुजुर्गों की देखभाल के काम से भी बाहर निकलने की अनुमति मिल सती है।
क्यों करते हैं लॉकडाउन?
किसी तरह के खतरे से इंसान और किसी इलाके को बचाने के लिए लॉकडाउन किया जाता है। जैसे कोरोना के संक्रमण को लेकर कई देशों में किया गया है। कोरोनावायरस का संक्रमण एक-दूसरे इंसान में न हो इसके लिए जरूरी है कि लोग घरों से बाहर कम निकले। बाहर निकलने की स्थिति में संक्रमण का खतरा बढ़ जाएगा। इसलिए कुछ देशों में लॉकडाउन जैसी स्थिति हो गई है।
किन देशों में है लॉकडाउन?
चीन, डेनमार्क, अल सलवाडोर, फ्रांस, आयरलैंड, इटली, न्यूजीलैंड, पोलैंड और स्पेन में लॉकडाउन जैसी स्थिति है। चूंकि चीन में ही सबसे पहले कोरोनावायरस संक्रमण का मामला सामने आया था, इसलिए सबसे पहले वहां लॉकडाउन किया गया। इटली में मामला गंभीर होने के बाद वहां के प्रधानमंत्री ने पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया। उसके बाद स्पेन और फ्रांस ने भी कोरोना संक्रमण रोकने के लिए यही कदम उठाया।
कब-कब हुआ लॉकडाउन?
अमेरिका में 9/11 के आतंकी हमले के बाद वहां तीन दिन का लॉकडाउन किया गया था। दिसंबर 2005 में न्यू साउथ वेल्स पुलिस फोर्स ने दंगा रोकने के लिए लॉकडाउन किया था। 19 अप्रैल, 2013 को बोस्टन शहर को आतंकियों की खोज के लिए लॉकडाउन कर दिया गया था। नवंबर 2015 में पैरिस हमले के बाद संदिग्धों को पकड़ने के लिए साल 2015 में ब्रुसेल्स में पूरे शहर को लॉकडाउन किया गया था।