Tuesday , September 29 2020

बुखार कम करने के लिए अपनाएं ये 5 घरेलू सरल व आसान उपचार,जल्द मिलेगी राहत

बच्चों और यहां तक कि वयस्कों में बुखार काफी आम है। शरीर में मौजूद संक्रमण से लड़ने की यह प्राकृतिक प्रक्रिया है। बुखार आना एक अच्छी बात है क्योंकि इस दौरान शरीर में अन्य बीमारियों के प्रति इम्युनिटी (बीमारियों से लड़ने की ताकत) विकसित होती है, लेकिन लंबे समय तक बुखार शरीर को कमजोर और स्वास्थ्य संबंधित जटिलताएं पैदा करते हैं। ऊर्जा की अचानक गिरावट, गंभीर रूप से शरीर में दर्द, ठंड लगना और पसीना असहज बना सकता है।
हालांकि, साधारण बुखार एक या दो दिन में खत्म हो जाते हैं, लेकिन लगातार बुखार में इलाज की आवश्यकता होती है। डॉ. लक्ष्मीदत्त शुक्ला का कहना है कि जब शरीर किसी भी प्रकार के संक्रमण से लड़ रहा है तब बुखार आता है जैसे फ्लू। अगर बुखार से परेशान हो रहे हैं तो शरीर ठंडा करने और बेहतर महसूस करने के लिए कुछ सरल व आसान घरेलू उपचार अपना सकते हैं।
सिरका:
बुखार से निपटने के लिए सरल और सबसे प्रभावी तरीकों में से एक है सिरका और गुनगुने पानी के साथ घोल तैयार करना और फिर अगले 10-15 मिनट के लिए उसमें बैठना। इससे शरीर का तापमान कम होगा और सामान्य स्थिति में आएगा। समस्या के कम होने तक हर दिन एक बार इस उपाय को जारी रखें।
कच्चा प्याज:
कच्चे प्याज शरीर के तापमान को नियंत्रित करने में मदद करते हैं और शरीर के दर्द को भी कम करते हैं। कच्चे प्याज का एक टुकड़ा ताजा कटा हुआ होना चाहिए और फिर पैरों के नीचे रखें। अब पैरों को कंबल से अच्छी तरह से ढक लें। यह तापमान को संतुलित करके बुखार को काफी स्तर तक कम कर देगा। यह बुखार के लिए सर्वश्रेष्ठ भारतीय घरेलू उपचारों में से एक है जो कभी निराश नहीं करता है।
सरसों के बीज:
सरसों के बीज वयस्कों में बुखार के लिए प्रभावी घरेलू उपचारों में से एक हैं। सरसों के बीज में मौजूद फाइटोन्यूट्रिएंट्स वयस्कों और बच्चों दोनों में बुखार को कम कर सकते हैं। एक मुट्ठी सरसों के दाने लें और एक कप गर्म पानी में डालें। यह अगले 5 मिनट के लिए अच्छी तरह से डूबाएं और फिर इसका सेवन करें। यह निश्चित रूप से बुखार के इलाज में मदद करेगा। इस समस्या का पूरी तरह से इलाज होने तक फॉलो करना चाहिए।
आर्टिचोक:
आर्टिचोक में प्राकृतिक रूप से डिटॉक्स करने के गुण होते हैं। वे बैक्टीरिया और वायरस के कारण संक्रमण को दूर करने में मदद कर सकते हैं ताकि बुखार को जल्दी से नीचे लाया जा सके। आर्टिचोक को नरम होने तक उबाले और पकाएं। बुखार का इलाज होने तक इनका निचला हिस्सा हर दिन खाएं।
किशमिश:
जिन लोगों को तेज बुखार है, उनके लिए यह घरेलू उपाय काफी काम का हो सकता है। लगभग आधे कप पानी में 25 किशमिश भिगोएं। अब किशमिश को अच्छे से मैश कर लें और फिर पानी को छान लें। इस लिक्विड में आधे नींबू का रस मिलाएं और फिर दिन में दो बार पीने के बाद तापमान सामान्य होता है।