Wednesday , October 21 2020

आईपीएल 2020 : दिल्ली कैपिटल्स ने चेन्नई सुपर किंग्स को 44 रनों से हराया

दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए आईपीएल 2020 के 7वें मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स ने चेन्नई सुपर किंग्स को 44 रनों से हरा दिया । टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी दिल्ली कैपिटल्स ने 20 ओवर में 3 विकेट खोकर 175 रन बनाए। जवाब में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम 7 विकेट पर 131 रन ही बना सकी । इसी के साथ दिल्ली ने आईपीएल 2020 में लगातार दूसरी जीत दर्ज की ।
पहले बल्लेबाजी करने उतरी दिल्ली कैपिटल्स ने पृथ्वी शॉ की धमाकेदार 64 रनों की पारी की मदद से 20 ओवर में 3 विकेट पर 175 रन का स्कोर बनाया ।उनके अलावा पंत ने 37 रन, धवन ने 35 रन और अय्यर ने 26 रनों की पारी खेली । इस दौरान चेन्नई की कसी हुई गेंदबाजी का ही असर रहा कि बाद के 10 ओवरों में दिल्ली कैपिटल्स के बल्लेबाज एक भी छक्का नहीं लगा पाए और परिणाम ये हुआ कि 185 के पार जाती दिख रही दिल्ली 175 के स्कोर पर रुक गई।
दिल्ली की पारी
युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ के शानदार अर्धशतक की मदद से दिल्ली कैपिटल्स ने चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ आईपीएल मुकाबले में 3 विकेट पर 175 रन बनाए ।
पृथ्वी शॉ ने 43 गेंदों पर 9 चौके और 1 छक्के की मदद से 64 रन बनाए । वहीं, शिखर धवन ने 27 गेंदों पर 3 चौके और 1 छक्के के साथ 35 रन बनाए । दोनों ने पहले विकेट के लिए 94 रन की साझेदारी कर दिल्ली को अच्छी शुरुआत दिलाई । ऋषभ पंत और कप्तान श्रेयस अय्यर ने भी तीसरे विकेट के लिए 58 रन की साझेदारी निभाई । पंत ने 25 गेंदों पर नाबाद 37 रन और श्रेयस अय्यर ने 22 गेंदों पर 26 रन बनाए ।
चेन्नई के गेंदबाजी बेहतरीन रही ।किंग्स के गेंदबाजों ने बीच के ओवरों और डेथ ओवरों में बल्लेबाजों पर लगाम लगाकर रखा और खुलकर खेलने नहीं दिया। लेग स्पिनर पीयूष चावला उसके सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 33 रन देकर 2 विकेट लिए। 27 रन देकर एक विकेट चटकाने वाले सैम कुरेन दूसरे सफल गेंदबाज रहे ।
दिल्ली ने पावरप्ले के 6 ओवरों में बिना विकेट खोए 36 रन जोड़े ।चेन्नई ने शॉ के खिलाफ पहले ओवर में विकेट के पीछे कैच की अपील नहीं की जबकि गेंद उनके बल्ले से निकलकर गई थी । शॉ ने इसका पूरा फायदा उठाया ।पावरप्ले में दिल्ली की तरफ से चारों चौके उनके बल्ले से निकले थे जबकि धवन जूझते हुए नजर आए ।
शॉ ने आगे भी गेंद को सीमा रेखा तक पहुंचाना जारी रखा । जोश हेजलवुड पर एक शॉट के अलावा उनका हर शॉट किताबी था ।उन्होंने 35 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया और फिर रविंद्र जडेजा की गेंद पर छक्का भी लगाया । इससे पहले धवन ने जडेजा की गेंद पर छक्का लगाया था। वह अपने रंग में लौट पाते इससे पहले चावला ने उन्हें LBW आउट कर दिया ।
इसके बाद चावला ने शॉ की पारी का भी अंत किया जिन्हें महेंद्र सिंह धोनी ने स्टंप आउट किया ।लगातार 2 विकेट गंवाने के बाद बीच के ओवरों में रनों की रफ्तार तेज करने की जिम्मेदारी पंत और अय्यर पर आ गई थी लेकिन 13वें ओवर में शॉ के आउट होने के बाद 20 ओवर तक के खेल में केवल 7 चौके लगे । इनमें से 5 चौके पंत ने लगाए । वहीं, बाद के 10 ओवरों में एक भी छक्का नहीं लगा ।
सैम कुरेन ने पारी का 19वां ओवर बेहद किफायती डाला। इसमें उन्होंने केवल 4 रन दिए और अय्यर को विकेट के पीछे कैच कराया । मार्कस स्टोइनिस 5 रन बनाकर नाबाद रहे ।
चेन्नई की पारी
खराब शुरुआत- चेन्नई की शुरुआत काफी धीमी और खराब रही । शेन वॉटसन और मुरली विजय की ओपनिंग जोड़ी 5वें ओवर में ही टूट गई । अक्षर पटेल ने वॉटसन को 14 रनों के स्कोर पर चलता किया । वहीं, अगले ही ओवर में मुरली विजय भी पवेलियन लौट गए । उन्हें एनरिक नोर्तजे ने 10 रन के निजी स्कोर पर चलता किया ।
चेन्नई की शुरुआत इतनी खराब रही कि चेन्नई के पहले पावरप्ले में 34 रन पर 2 विकेट गिर गए । इसके बाद 10वें ओवर में ऋतुराज गायकवाड़ भी रन आउट हो गए । 10 ओवर में चेन्नई का स्कोर 3 विकेट के नुकसान पर 47 रन था ।
10 ओवर के बाद फाफ डु प्लेसिस और केदार जाधव कुछ देर तक बड़े शॉट्स जरूर लगाए लेकिन 16वें ओवर में यह जोड़ी भी टूट गई । केदार जाधव ने 21 गेंदों पर 3 चौके की मदद से 26 रनों की पारी खेली और नोर्तजे के शिकार हुए । इसके बाद लगातार बढ़ रहे रनों के दबाव के बीच 18वें ओवर में बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में डुप्लेसिस विकेट के पीछे पंत को कैच थमा बैठे। उन्होंने 43 रनों की पारी खेली ।
आखिरी ओवर में रबाडा ने धोनी और जडेजा को भी पवेलियन का रास्ता दिखा दिया । धोनी ने 15 और जडेजा ने 12 रन बनाए।