Thursday , August 6 2020

भक्तों पर कृपा बरसाते हैं भगवान शिवशंकर, सच्चे मन से करें का ध्यान

भगवान शिवशंकर अपने भक्तों पर असीम कृपा बरसाते हैं। भगवान शिवशंकर के प्रिय माह श्रावण में हर सोमवार व्रत रखें और शुद्ध मन से भोलेबाबा की आराधना करें। सावन में पांच सोमवार का संयोग आता है तो चौथा और पांचवां सोमवार विशेष फलदायी होता है। सावन के चौथे सोमवार पर भगवान शिवशंकर की उपासना करने से कार्यक्षेत्र और व्यापार में आने वाली बाधाओं का निवारण होता है। धन और संतान की मनोकामना रखने वाले भक्तों की मुरादें पूर्ण होती हैं। सावन मास का चौथा सोमवार भक्तों के आर्थिक कष्टों का निवारण करने वाला माना जाता है।
सावन के चौथे सोमवार को भगवान शिवशंकर को एक मुट्ठी जौ अर्पित करें। शिवपुराण, शिव कवच, शिव चालीसा, महामृत्युंजय मंत्र का पाठ करें। श्रावण मास में सोमवार के सभी व्रत रखने से पूरे वर्षभर के सोमवार व्रत करने का पुण्य प्राप्त हो जाता है। श्रावण माह में हर सोमवार गाय को हरा चारा अवश्य खिलाएं। अधिक से अधिक समय ॐ नम: शिवाय का जाप करें। भगवान शिवशंकर के सामने गाय के घी का दिया जलाएं। सफेद मिठाई का भोग लगाएं। सफेद फल-फूल से भगवान शिवशंकर का पूजन करें। भगवान शिवशंकर के पूजन के बाद मां लक्ष्मी की स्तुति करें। इससे परिवार में सुख-समृद्धि का वास होता है। भगवान शिवशंकर का जलाभिषेक करने से हर रोग दूर हो जाता है और आने वाले संकट भी टल जाते हैं।
नोट:
इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।