Wednesday , October 21 2020

प्रतिदिन टीमों द्वारा डोर-टू-डोर किया जाये सर्वेक्षण- नोडल अधिकारी

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)
■ टीमों द्वारा सर्वेक्षण के दौरान लक्षणयुक्त पाये जाने पर कराई जाये कोरोना की जांच- नोडल अधिकारी

पीलीभीत । जनपद में कोविड-19 के नियंत्रण एवं संचारी रोग नियन्त्रण, स्वच्छता अभियान/पेयजल आदि की व्यवस्था को लेकर की जा रही कार्रवाई की समीक्षा बैठक अपर मुख्य सचिव, श्रम एवं सेवायोजन विभाग, उत्तर प्रदेश शासन सुरेश चन्द्रा की अध्यक्षता में गांधी सभागार कलेक्ट्रेट में सम्पन्न हुई। बैठक के दौरान नोडल अधिकारी द्वारा कोविड-19 की समीक्षा करते हुये एल वन अस्पताल व एल टू फैसिलिटी अस्पताल बारे में जानकारी प्राप्त की गई। मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि जिला महिला चिकित्सालय में 100 बेड का एल टू अस्पताल संचालित है। जिसमे वैन्टीलेटर, बाथरूम, शौचालय, पेयजल सहित आदि व्यवस्थाऐं मानक के रूप में सुनिश्चित की गई है। नोडल अधिकारियों द्वारा कोविड-19 की समीक्षा के दौरान जनपद में कोरोना से हुई मृतक मरीजों की समीक्षा की गई तथा इस दौरान निर्देशित किया गया कि व्यक्तिगत अस्पतालों पर विशेष नजर रखी जाये, मरीज की हालत खराब होने के उपरान्त रेफर किया जाता है ऐसी समस्या न उत्पन्न होने पाये। इस सम्बन्ध में एम्बुलेंस के नोडल अधिकारी को निर्देशित किया गया कि एम्बुलेंस के संचालन के समयसीमा में पहुंचाने की मौके पर जाकर जांच की जाये। समीक्षा के दौरान उन्होंने सर्विलांस टीमों को और अधिक सक्रिय करने हेतु निर्देशित किया गया।
बैठक के दौरान नोडल अधिकारी द्वारा होम आईसोलेशन माॅनीटिरिंग टीम, टेस्टिंग कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग माॅनीटिरिंग टीम सहित अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओ पर गहनता से समीक्षा की गई। इस दौरान होम आईलोशन की समीक्षा के दौरान नोडल अधिकारी नगर मजिस्ट्रेट द्वारा अवगत कराया गया कि कंटोल रूम से प्रतिदिन सुबह शाम मरीजों को फोन काल्स के माध्यम से तापमान व पल्स आक्सीमीटर की जानकारी प्राप्त की जा रही है तथा आवश्यकता होने पर मेडिकल टीम द्वारा सुविधाऐं उपलब्ध कराई जा रही हैं। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा सर्विलांस टीम व टेस्टिंग के कार्यों की समीक्षा के दौरान अवगत कराया गया कि सर्विलांस टीम के द्वारा सर्वेक्षण के उपरान्त लक्षण युक्त पाऐ गये व्यक्तियों की टेस्टिंग टीम द्वारा तत्काल कोरोना जांच कराई जा रही है। सर्विलांस टीमों द्वारा सर्वेक्षण के दौरान लक्षणयुक्त पाए गए, समस्त व्यक्तियों की टेस्टिंग नियमित रूप से की जा रही है और प्रतिदिन टीमों द्वारा डोर टू डोर सर्वेक्षण अभियान संचालित किया जा रहा है। इस दौरान एआर कोआपरेटिव द्वारा अवगत कराया गया कि कल 690 निगरानी टीमों द्वारा सर्वेक्षण कार्य किया गया जिसमें लक्षणयुक्त पाये गये व्यक्तियों की तत्काल आरआर टीम द्वारा जांच कराई गई।
नोडल अधिकारी द्वारा डाटा फीडिंग संबंधी कार्यों की समीक्षा के दौरान समस्त कार्यों को निर्धारित समय में डाटा फीडिंग कार्य ससमय कराना सुनिश्चित किया जाये। डाटा फीडिंग करने में किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये और साथ ही साथ आरोग्य सेतु ऐप व संजीवनी ऐप को भी अधिक से अधिक लोगों को अपलोड कराया जाये।
बैठक में जिलाधिकारी पुलकित खरे, मुख्य विकास अधिकारी श्रीनिवास मिश्र, अपर जिलाधिकारी (वि./रा.) अतुल सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 सीमा अग्रवाल, जिला विकास अधिकारी योगेन्द्र पाठक, नगर मजिस्ट्रेट अरूण कुमार सिंह, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0सी0एम0 चतुर्वेदी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 अश्वनी कुमार, अन्य पिछडा वर्ग कल्याण अधिकारी के0पी0सिंह सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।