Tuesday , April 20 2021

माइकल वॉन ने भारतीय टीम की रणनीति का उड़ाया मजाक

चेन्नई टेस्ट का पहला दिन इंग्लैंड के नाम रहा । मेहमान टीम ने 3 विकेट पर 263 रन बनाए और कप्तान जो रूट ने शानदार 128 रनों की पारी खेली । कप्तान जो रूट की पारी और इंग्लैंड के प्रदर्शन से पूर्व कप्तान माइकल वॉन बेहद खुश दिखे । वॉन ने इंग्लैंड की तारीफ तो की ही साथ में उन्होंने भारतीय टीम की रणनीति का मजाक भी उड़ाया । माइकल वॉन ने ट्वीट कर लिखा कि चेन्नई टेस्ट के लिए भारत ने हास्यास्पद टीम चुनी । उन्होंने हैरानी जताई कि आखिर प्लेइंग इलेवन में कुलदीप यादव जैसा गेंदबाज क्यों नहीं खेला?
माइकल वॉन ने क्रिकबज से बातचीत करते हुए कहा, ‘टीम इंडिया को रवींद्र जडेजा की कमी खल रही है, वो बहुत बड़ा झटका है । सुंदर और नदीम को मौका दिया गया दोनों को अनुभव नहीं है। मुझे बेहद हैरानी है कि कुलदीप यादव को मौका नहीं मिला। 6 टेस्ट मैच में इस गेंदबाज ने 2 बार पारी में पांच विकेट झटके हैं । कलाई के स्पिनर्स ने हमेशा इंग्लैंड के बल्लेबाजों को परेशान किया है । वॉन ने आगे कहा, ‘श्रीलंका में बाएं हाथ के गेंदबाज ने इंग्लैंड को परेशान किया था और भारत ने उसी आधार पर नदीम को मौका दे दिया । मुझे लगता है कुलदीप यादव को मौका मिलना चाहिए. हालांकि मुझे कभी नहीं लगा कि टीम इंडिया घबराई हुई है।’
कुलदीप यादव को प्लेइंग इलेवन में मौका नहीं देना गलत फैसला!
बता दें कुलदीप यादव को मौका नहीं देना टीम इंडिया के लिए गलत ही फैसला साबित हुए । शाहबाज नदीम को कुलदीप यादव की जगह मौका दिया गया और पहले दिन वो बेहद औसत गेंदबाजी करते दिखे । शाहबाज ने 20 ओवर में 69 रन दिये और इसके साथ-साथ उन्होंने 4 नो बॉल भी फेंकी । वॉशिंगटन सुंदर ने भी 12 ओवर में 55 रन दिये ।
एक ओर जहां माइकल वॉन ने भारतीय टीम की प्लेइंग इलेवन पर सवाल खड़े किये, वहीं दूसरी ओर पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने जो रूट की जमकर तारीफ की। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने कहा कि मौजूदा कप्तान जो रूट ने लगातार टेस्ट में तीन शतक जड़कर साबित कर दिया कि वह विराट कोहली, केन विलियमसन और स्टीव स्मिथ के साथ ‘फैब फोर’ में शामिल हैं। इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान रूट इस साल शानदार फॉर्म में हैं जबकि 2020 में उनकी फार्म अच्छी नहीं थी । श्रीलंका के पिछले महीने 228 और 186 रन बनाने के बाद 30 साल के इस खिलाड़ी ने भारत के खिलाफ श्रृंखला के शुरूआती मैच में शानदार शतक जड़कर अपना 100वां टेस्ट और यादगार बना दिया ।
हुसैन ने ‘स्काई स्पोर्ट्स’ में अपने कॉलम में लिखा, ‘यह तय हो गया कि जो रूट ने अपने 100वें टेस्ट में शतक जड़कर साबित कर दिया कि वह सही मायने में महान है।’ उन्होंने कहा, ‘पिछले साल खराब फॉर्म के बाद कुछ लोग शक करने लगे थे कि वह उस ग्रुप में शामिल है या नहीं जिसमें विराट कोहली, केन विलियमसन और स्टीव स्मिथ मौजूद है लेकिन आपको बता दूं कि खराब दौर में भी उसका औसत 40 का था ।’