Saturday , December 4 2021

महाराष्ट्र के अमरावती में हुई हिंसा,

पिछले महीने त्रिपुरा में हुई हिंसा के खिलाफ महाराष्ट्र के अमरावती में प्रदर्शन हो रहे हैं । कल कुछ संगठनों के विरोध प्रदर्शन के दौरान कुछ अज्ञात व्यक्तियों की ओर से दुकानों पर पथराव करने के बाद इलाके के कई हिस्सों में तनाव फैल गया । इस घटना को लेकर आज बीजेपी (BJP) ने बंद बुलाया है । बंद के दौरान हिंसा की कई घटनाएं हुईं । जिसके बाद एनसीपी नेता और महाराष्ट्र में मंत्री नवाब मलिक ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है ।
त्रिपुरा में हुए साम्प्रदायिक दंगों के विरोध में महाराष्ट्र के कई शहरों में कल मुस्लिम संगठनों ने बंद का ऐलान किया था । इस दौरान कुछ ठिकानों से हिंसा की खबरें आईं। नांदेड़ में हिंसक भीड़ ने कई दुकानों में तोड़फोड़ की और भारी पथराव किया, जिसमें 2 पुलिसकर्मी घायल हो गए । प्रदर्शन के दौरान सरकारी वाहनों को नुकसान पहुंचाया गया । मालेगाव में भी काफी उतपात मचा. हिंसक भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा । एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि जैयाब चौराहे पर दुकानों के शीशे पर पथराव किया गया और अब दुकानदारों की शिकायत पर मामला दर्ज किया जा रहा है।
हिंसा को लेकर मंत्री नवाब मलिक ने कहा है, ‘’जो घटना हुई है, दुर्भाग्यपूर्ण है । पुलिस उसकी जांच करेगी. जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी ।आंदोलन करना सबका अधिकार है। लेकिन आंदोलन के नाम पर हिंसा करना सही नहीं है. हम लोगों से अपील करते हैं कि शांति बनाकर रखें। कुछ अराजक तत्व इसमें हिंसा फैलाने का काम कर रहे हैं।’’
त्रिपुरा के पानीसागर में भीड़ बांग्लादेश में हिंदुओं पर हिंसा के विरूद्ध प्रदर्शन करते हुए हिंसा पर उतर आयी थी और इससे एक धर्मस्थल, मकानों एवं दुकानों को नुकसान पहुंचा था ।