Sunday , June 20 2021

जैविक विधि से फल और सब्जियाें के उत्पादन हेतु 30 दिवसीय प्रशिक्षण शुरू

जनपद न्यूज़ ब्यूरो

सिंगरौली । जैविक खेती से किसानों को फायदा ही फायदा होगा, आर्थिक रूप से भी और जमीन की उपजाऊ शक्ति भी बनेगी। उक्त बातें जैविक विधि से सब्जियों की खेती एवं फल एवं सब्जियों के प्रसंस्करण पर आयोजित 30 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के शुभांरभ के अवसर पर IIT BHU के प्रोफेशर डॉ0 प्रदीप मिश्रा ने कही।
उन्होंने बताया कि R-ABI, IIT (BHU ) एवं NCL के सहयोग एवं मार्गदर्शन में सोनांचल एरोमा प्राइवेट लिमिटेड एवं सोन वैली बायोएनर्जी फार्मर प्रोडूसर कंपनी लिमिटेड द्वारा ग्राम बिरकुनिया-सिंगरौली में 50 ग्रामीणों को इस प्रशिक्षण के लिए चयन किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य किसानों को जैविक खेती की तरफ आकर्षित करना, मिट्टी की उर्वरक शक्ति को नष्ट होने से बचाना तथा फसलों में होने वालो रोगों कीटों के नाश के लिए होने वाली दवा के छिड़कावों को रोकना है।

इस प्रशिक्षण में सोनभद्र के कृषि एक्सपर्ट द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है तथा सोनांचल एरोमा प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक सत्यप्रकाश पांडेय की टीम द्वारा उक्त प्रशिक्षण का संचालन किया जा रहा है।