Thursday , September 23 2021

नीति आयोग द्वारा जारी आकांक्षी जिलों की सूची में सोनभद्र अव्वल

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । नीति आयोग की मार्च, 2021 में जारी आकांक्षी जिलों की सूची में सोनभद्र शीर्ष पर है। नीति आयोग द्वारा जारी सूची में उत्तर प्रदेश के सोनभद्र को प्रथम स्थान, राजस्थान के जैसलमेर को दूसरा स्थान और असम के बारपेटा जिले को तीसरा स्थान मिला है। वहीं झारखंड का चतरा जिला इस सूची में अंतिम पायदान पर है।

नीति आयोग की डेल्टा रैंकिंग 112 आकांक्षी जिलों में विकास के छह क्षेत्रों में हुई प्रगति पर आधारित है। ये छह क्षेत्र हैं, स्वास्थ्य और पोषण, शिक्षा, कृषि और जल संसाधन, वित्तीय समावेश, कौशल विकास और मूल ढांचागत सुविधाएं। आयोग इन छह क्षेत्रों में हुई प्रगति के आधार पर हर महीने आकांक्षी जिलों की रैंकिंग करता है। आकांक्षी जिला कार्यक्रम की शुरूआत जनवरी 2018 में हुई। इस पहल का मकसद उन जिलों में विकास को तेज करना है, जो प्रमुख सामाजिक क्षेत्रों में अपेक्षाकृत पीछे रह गये हैं।

मुख्य विकास अधिकारी अमित पाल शर्मा ने बताया कि “विकास के विभिन्न मानकों जैसे स्वास्थ्य, शिक्षा, वित्तीय समावेशन, आधारभूत संरचना समेत कई मानकों की कसौटी पर खरा उतरने पर नीति आयोग द्वारा मार्च माह की जारी सूची में सोनभद्र जिले को प्रथम स्थान मिला है। मुख्य विकास अधिकारी ने इसे एक टीम वर्क का परिणाम बताते हुए इसका श्रेय मंडलायुक्त, जिलाधिकारी और कर्मचारियों को दिया है। बेसिक शिक्षा के क्षेत्र में स्मार्ट क्लास, फर्नीचर, फर्श, शिक्षा की गुणवत्ता पर ध्यान दिया गया। इसके साथ-साथ बच्चों के ट्रांजिशनल रेट को भी काफी कम रखा गया है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में ग्रामीण स्वास्थ्य और पोषण पर ध्यान दिया गया। इसकी मॉनिटरिंग के लिए ऐप भी विकसित किया गया है। इसके अलावा कौशल विकास और अन्य क्षेत्रों में भी काम किया गया है।”