Sunday , June 20 2021

संघ प्रमुख मोहन भागवत समेत संघ के कई नेताओं के निजी ट्विटर अकाउंट से हटाए ब्लू टिक को किया फिर से बहाल

केंद्र के सख्त अल्टीमेटम के बाद माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने शनिवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत समेत संघ के कई नेताओं के निजी ट्विटर अकाउंट से हटाए ब्लू टिक को फिर से बहाल कर दिया है । बता दें कि ट्विटर ने शनिवार को संघ प्रमुख के अलावा अरुण कुमार, सुरेश जोशी और कृष्णगोपाल के ट्विटर अकाउंट से ब्लू टिक हटा दिया था । इससे पहले शनिवार को ही उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू के निजी अकाउंट से सत्यापन वाला ब्लू टिक हटाया और बाद में इसे बहाल कर दिया।
उपराष्ट्रपति सचिवालय के अधिकारियों ने बताया कि ट्विटर पर नायडू का निजी अकाउंट लंबे समय से निष्क्रिय था और ट्विटर अल्गोरिद्म ने ब्लू टिक हटा दिया ।इससे पहले अधिकारियों ने बताया था कि ट्विटर सत्यापन पहचान को बहाल करने की प्रक्रिया में है । उपराष्ट्रपति के इस निजी अकाउंट से पिछले साल 23 जुलाई को आखिरी बार पोस्ट की गयी थी ।
अधिकारियों ने बताया कि अकाउंट से ब्लू टिक हटने के बारे में शनिवार सुबह पता चलने के बाद ट्विटर से संपर्क किया गया और इसके बाद ब्लू टिक को बहाल कर दिया गया । ट्विटर ने कहा कि यह अकाउंट जुलाई 2020 से निष्क्रिय था और अब उसे सत्यापित करने वाले ब्लू टिक को बहाल कर दिया गया है ।उपराष्ट्रपति ट्वीट करने के लिए आधिकारिक अकाउंट का इस्तेमाल करते हैं ।
बता दें मई 2019 से ट्विटर पर मौजूद आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत को ट्विटर पर 2 लाख 14 हजार से ज्यादा लोग फॉलो करते हैं जबकि भागवत अपने अकाउंट से सिर्फ आरएसएस के ट्विटर हैंडल को फॉलो करते हैं ।हालांकि भागवत ने आज तक अपने अकाउंट से एक भी ट्वीट नहीं किया है ।