Sunday , June 20 2021

जायदाद के लिए सौतेले भाई ने की थी अभिषेक की हत्या

मनोहर कुमार
* मामले में तीन लोगों को पुलिस ने किया है गिरफ्तार
चंदौली ।अलीनगर पुलिस और सर्विलांस टीम ने अलीनगर थाना क्षेत्र के पंचफेडवा के समीप एन एच दो पर फ्लाई ओवर पर खड़ी स्विफ्ट कार से मिले अभिषेक त्रिवेदी के शव के पीछे घटना की वजह का खुलासा शुक्रवार को किया। इस मामले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।पुलिस आरोपितों को सम्बंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया।
अपर पुलिस अधीक्षक चन्दौली दयाराम सरोज ने हत्या का खुलासा करते हुए बताया कि 23 अप्रैल 2021 दिन शुक्रवार को अलीनगर थाना क्षेत्र के पंचफेडवा एन एच दो के समीप स्विफ्ट कार से एक युवक का शव बरामद हुआ था। जिसकी पहचान अभिषेक त्रिवेदी निवासी थाना मोहनिया क्षेत्र के रूप में हुई थी।अभिषेक के सिर में गोली लगी थी। इस मामले की तह में जाने के लिए पुलिस लगातार प्रयास में थी। पुलिस के अनुसार अभिषेक त्रिवेदी के पिता की दो पत्नियां थीं। एक पत्नी से अभिषेक तो दूसरे का आलोक पुत्र था। अभिषेक और उनके सौतेले भाई आलोक त्रिवेदी के बीच जायदाद को लेकर विवाद चल रहा था। अभिषेक त्रिवेदी अपने सौतेले भाई आलोक त्रिवेदी से पुस्तैनी जायदाद का आधा हिस्सा मांग रहा था। लेकिन आलोक देना नहीं चाहता था। जिसके बाद आलोक ने अपने साथियों के साथ अभिषेक की हत्या करने की साजिश रची।
अभिषेक त्रिवेदी की हत्या की साजिश में आलोक त्रिवेदी के साथ उनके साथी मुकेश त्रिवेदी, मोहन शर्मा और मनीष शर्मा शामिल थे।इन लोगों ने पहले साजिश के तहत अभिषेक को वाराणसी से मुठानी ले गए और वहाँ अभिषेक की गोली मारकर हत्या कर दी। वहीं उसके शव को अलीनगर थाना क्षेत्र के पंचफेडवा के पास स्विफ्ट कार में छोड़ गए ताकि पुलिस को चकमा दे सकें। हत्या के आरोप में आलोक त्रिवेदी व उनके साथी मुकेश त्रिवेदी, मोहन शर्मा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. वहीं मनीष शर्मा फरार चल रहा है। जल्द ही उसकी भी गिरफ्तारी पुलिस कर लेगी।